अंकल की नाजायज़ बीवी बनी

0
Loading...

प्रेषक : शबाना

हैल्लो फ्रेंड्स यह मेरी पहली कहानी है और में आपको अपनी लाईफ के बारे मे बताने आई हूँ। में पुणे मे रहती हूँ और हम 4 लोग ही पूरी फॅमिली मे रहते है। हमारी सोसाइटी ज्यादा बड़ी नहीं है लेकिन मेरे अंकल यानी मेरे नाजायज़ पति रहते है। उनका नाम संकेत है और वो बहुत अच्छे स्वभाव के है। बिल्कुल मेरे लाईफ पार्ट्नर की तरह तो में भी कुछ ज्यादा ही स्मार्ट हूँ। में अभी 23 साल की हूँ और मेरे नाजायज पति 37 साल के है लेकिन में उन्हें बहुत प्यार करती हूँ।

चलो अब में बताती हूँ कि हम दोनों क़रीब कैसे हुए। दोस्तों मेरी दादी अक्सर बीमार रहती थी। फिर करीब 6 या 7 महीने पहले वो कुछ ज्यादा बीमार हो गयी। मेरे पेरेंट्स उन्हे बाहर लेकर जाने वाले थे इलाज के लिये और मुझे भी कहा कि तुम भी चलो लेकिन मैंने मना कर दिया और में अकेले भी नहीं रहना चाहती थी। फिर पापा ने कहा कि तुम अकेले कैसे रुकोगी? में तो ज़िद्द पर ही थी कि मुझे नहीं जाना लेकिन प्रॉब्लम भी थी तभी मैंने कहा कि आप चले जाइए में यहाँ पर अंकल के साथ रुक जाउंगी। फिर पापा उन पर भरोसा करते थे इसलिए उन्हे हमारा बिजनेस भी संभालने को दिया था। हमारे पोल्ट्री शॉप है यहाँ पर तो अंकल ही ज्यादा ध्यान देते थे और वो अकेले ही रहते थे और उनका खाना पीना हमारे यहाँ पर ही चलता था।

में तो उन पर फिदा थी। कई बार मैंने ट्राई किया उन्हे प्यार करने का लेकिन वो मुझ पर ध्यान नहीं देते थे और मेरी भी शादी नहीं हुई थी इसलिए शायद में यह सोचती थी कि में उनकी वाईफ बनूँ। तभी एक दिन पापा ने अंकल को फोन किया और बताया कि हम लोग वापस आ रहे है लेकिन तुम ज़रा प्लीज अम्मू के साथ रहो जब तक हम नहीं आ जाते। फिर उन्होंने कहा कि वो हमारे रिश्तेदार के यहाँ पर रुक रहे थे और कहने लगे तुम प्लीज यहीं पर रहना उन्होने हाँ कहा। फिर में भी बहुत खुश हो गई कि अब मौक़ा नहीं जाने दूंगी। फिर हम दोनो ऊपर आए अंकल तो हॉल में ही थे में किचन मे सोच रही थी कि क्या बनाकर खिलाऊँ मेरे पति को।

एक बात बोलती हूँ हर कोई सेक्स से ही शुरू करता है लेकिन में प्यार से सेक्स करना चाहती थी। मुझे उनसे आई लव यू सुनना था। तभी में उनके पास गयी और पूछा कि अंकल खाने में क्या बनाऊँ? तभी वो बोले कि कुछ लाईट सी चीज़ बना दो। उनको खिचड़ी बहुत पसंद थी। फिर में किचन मे जाकर काम में लग गयी अंकल हॉल मे ही बैठे थे। फिर थोड़ी देर बाद जब खाना बनने वाला था मैंने गॅस बंद किया और मेक्सी पहनने चली गयी और फिर जल्दी से किचन में आ गयी। फिर में खिचड़ी को कूकर में से बाउल मे निकाल रही थी तभी अंकल आए वो मेरे पीछे ही थे मुझे पता था लेकिन मैंने कुछ नहीं किया में काम मे व्यस्त थी जब काम पूरा हो गया। तभी उन्होने मुझे पीछे खीँच लिया फिर में हैरान हो गई कि अंकल आज क्या सोच रहे है? जो मुझ पर नजर नहीं डालते थे वो मुझसे चिपक रहे है। फिर मैंने कुछ नहीं कहा क्योंकि में बस उनकी वाईफ बनना चाहती थी।

फिर मैंने थोड़ा पीछे हटकर उनके कानो में कहा अंकल आई लव यू। तभी वो बोले अंकल नहीं संकेत बोलो फिर मैंने भी कहा कि मुझे भी शबाना नहीं अम्मू बोलिए संकेत जी उसके बाद वो मुझे कमर से पकड़ कर और ज़ोर से दबाने लगे। फिर में भी प्यार में थी में और खुश हो गयी तभी में थोड़ा झुक गयी और अपने हाथों को किचन टेबल पर रखकर झुकी तो वो भी मेरे ऊपर झुके और मेरे बूब्स को चूमने लगे। तभी मैंने आआहह कहा उन्होने कहा अम्मू आई लव यू लेकिन में बहुत डरता था कहीं तुम मुझे गलत ना समझो। तभी फिर मैंने कहा कि में बस आपकी हूँ इसमें क्या फ़र्क़ पड़ता है? यह सुनकर उन्होने मुझे घुमाया और मेरे नाज़ुक होंठो को चूसने लगे लेकिन उन्होने सिगरेट पी हुई थी तो मैंने कहा कि रूको और में भागकर गयी और माउथस्प्रे लेकर आई उन्होने लिया और मैंने भी फिर एक दूसरे के होंठो को चूसने लगे।

अब उनकी जीभ मेरे मुहं में जा रही था और फिर किस्सिंग के बाद उन्होंने मेरी मेक्सी उतार दी और सिर्फ़ ब्रा और पेंटी छोड़ दी और कहा कि चलो खाना खाते है। मैंने कहा ठीक है और बाउल को उठाकर टेबल पर ले गई और उनकी प्लेट में डालने लगी तो उन्होने कहा कि रूको अम्मू आज में अलग और सबसे प्यारी डिश खाना चाहता हूँ। फिर मैंने कहा कैसे? तभी वो बोले कि तुम टेबल पर से पूरा सामान हटाओ। मैंने सामान हटा दिया फिर मुझे उन्होंने गोद मे उठाकर टेबल पर लेटा दिया और चम्मच से मेरे ऊपर यानी मेरे पेट पर और ब्रा के बीच मे वो खिचड़ी डालने लगे में तो बस पागल हो गयी थी और जन्नत में थी मुझे अपना प्यार मिल गया था और फिर वैसे ही वो खाने लगे। फिर मैंने अपने हाथो को उठाया तो उन्होने देखा कि मेरे बाल बीच में आ रहे थे। फिर उन्होने पूछा अगर में कुछ गंदा सा करूं तो बुरा तो नहीं लगेगा ना?

Loading...

फिर मैंने कहा नहीं जो चाहे करिए। तभी उन्होने थोड़ी खिचड़ी मेरे बालो वाली बगल मे लगाई और उसे ही खाने लगे मुझे पहले गंदा लगा फिर मैंने सोचा कि एक इंसान मुझे इतना प्यार कर रहा है जो मेरे लिए इतना गंदा बन सकता है तो में क्यों उससे डरूं? फिर में भी मज़े से उनका साथ दे रही थी। फिर उसके बाद वो रुक गये। मैंने पूछा जी क्या हुआ? तभी उन्होने कहा कि रूको अब बस हो गया में अब नहीं करूँगा तुम टेबल से उतरो। फिर में उतरी और उन्होने मेरी ब्रा और पेंटी उतार दी में पूरी नंगी पहली बार हुई थी उनके सामने मेरी चूत पर बहुत से बाल है क्योंकि उन्हे पसंद है इसलिए मैं अंडरआर्म्स और चूत के बाल काटा नहीं करती हूँ और उसके बाद वो मुझसे बोले कि लेट जाओ जान में वहीं ज़मीन पर लेट गयी और उन्होने आकर पहले मेरी चूत पर हाथ लगाया आहह वाह मुझे बहुत अच्छा लग रहा था और फिर झुककर मेरी चूत को अपनी जुबान लगाने लगे जो पहले से ही गीली हो गई थी। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

तभी मैंने सोचा कि कोई मेरे साथ यह शायद नहीं करेगा सिर्फ मेरे संकेत जी ही करेंगे। फिर वो मेरी चूत को चाटने लगे बहुत अच्छा एहसास था वो। में आवाज़े निकाल रही थी अंकल प्लीज आहह उफफफफ्फ़ उऊहह उनकी मूँछ के बाल मुझे चुभ रहे थे लेकिन मुझे फ़र्क़ नहीं पड़ा। फिर थोड़ी देर बाद मुझे कहा कि उठो और खुद खड़े हुए। तभी में उठकर बैठी अपने घुटनो पर और वो मेरे सामने खड़े थे मैंने पूछा अब क्या? उन्होने कहा कि अम्मू मेरी अंडरवियर उतारो ना। तभी मैंने वही किया और फिर मैंने उनका लंड देखा वो भी बहुत काला था फिर मैंने नीचे देखा वो बोले शरमाओ मत जान, इसे हाथ लगाओ मैंने हाथ लगाकर देखा तो वो बहुत गरम था।

Loading...

तभी उन्होने कहा कि इसे चाटो ना मैंने कहा नहीं अंकल तभी वो कहने लगे में इतना गंदा बना तुम्हारे लिए तुम इतना भी नहीं करोगी? फिर मैंने सोचा कि यार वो कितने गंदा तरीके से खा रहे थे में अगर चूस लूँ या चाट लूँ तो क्या होगा? फिर मैंने पहले थोड़ी सी ज़बान लगाई तो नमकीन सा टेस्ट था उसके बाद आहिस्ता से मुहं मे लेने लगी वो चिल्ला रहे थे। अम्मू प्लीज आआअहह चूसो ना अमम्मू प्लीज आई लव यू प्लीज।

फिर कुछ देर चूसा और फिर वो जाकर कुर्सी पर बैठ गये और मुझे अपने ऊपर बिठाने लगे लेकिन तभी अचानक उन्होंने कहा कि रूको अम्मू में नीचे सो जाता हूँ तुम मेरे मुहं पर अपनी चूत रख दो इसे थोड़ा गीला कर दो। तभी में उनके मुहं पर बैठ गयी जैसे हम टॉयलेट मे बैठते है और वो मेरी चूत को चाट रहे थे। फिर में आवाज़ निकाल रही थी आहह। फिर हम दोनो उठे और उन्होने मुझे गोद मे उठाया और बेडरूम मे ले गये वहाँ पर जाकर खुद बेड पर लेट गये और मुझे अपने लंड पर बैठने को कहा। तभी में हैरान थी पहली बार था इसलिए आहिस्ता से बैठने लगी तो इतना दर्द हुआ के क्या बोलूं… में रुक गयी और उनसे अलग हो गयी, उन्होने कहा कि डरो मत बस ट्राई करो। फिर में डरते हुए और ट्राई करने लगी पर उफफफ्फ़ मेरी चूत में जैसे लावा था इतनी गर्मी थी.. मुझे तकलीफ़ हो रही थी।

तभी मैंने कहा कि अब मुझसे नहीं होगा प्लीज संकेत जी, तभी वो मुझे चिपक गये और मुझे सहलाने लगे और फिर उन्होंने कानो में कहा कि अम्मू प्लीज ट्राई करो ना। तभी मैंने कहा कि ठीक है और फिर से वो लेट गये में उनके ऊपर बैठी और अपनी चूत को फैला दिया और धीरे धीरे नीचे सरकने लगी थोड़ा सा अंदर गया लेकिन ब्लीडिंग शुरू हुई उन्होने बिना हिले मुझे पकड़ा और रुका दिया और मुझे कहा कि ज़ोर से नीचे दबा दो अपनी चूत को। फिर मैंने थोड़ी सी राहत की सांस ली और बस खुद को नीचे बैठ दिया आअहह उफफफफफ्फ़ मेरी जान निकल गई मेरे दिमाग़ तक दर्द था कुछ जल्दी से उन्होने मुझे उनके ऊपर खींचा और मुझे खुद से चिपकाकर मुझे कानो मे बोलने लगे में तुम्हारा पति और तुम मेरी वाईफ हो। में तो रो रही थी उन्होने अपनी जीभ मेरी आँखो को लगाई और मेरे आंसू को चाटने लगे मेरा दर्द कम हुआ तो उन्होने वैसे ही मुझे लंड अंदर रखकर मुझे नीचे किया और मेरे ऊपर आ गये और उसके बाद लंड अंदर बाहर करने लगे जैसे ही उनका लंड बाहर आता मुझे लगता जैसे अंदर छुरी जा रही हो और अंदर डालते वक़्त भी तकलीफ़ थी।

फिर कुछ देर बाद वो मेरे जांघो को मोडकर मेरे ऊपर चड गये और ज़ोर ज़ोर से पंपिंग करने लगे बहुत दर्द था में चिल्ला रही थी। फिर वो नहीं रुके में आआहह फफफ्फ़ हम्म प्लीज हाँ नहीं अंकल उफफफफफ्फ़ करने लगी और मुझे बोल रहे थे में भी थोड़ी शांत हुई 6 या 7 मिनट में और आँखे बंद करके हहुउऊ आअहह करने लगी और फिर उन्होने कहा कि अम्मू में झड़ने वाला हूँ क्या तुम्हे वीर्य चूत में चाहिए?

तभी मैंने कुछ नहीं कहा तो उन्होने और नीचे होकर पूछा अम्मू क्या हुआ? तभी मैंने उन्हे उनकी गर्दन पकड़कर खींचा और उनसे कहा कि मुझे तुम्हारी हर चीज़ चाहिए वो ऊपर नीचे करने लगे और उनके लंड मे से कुछ गाढ़ा जैसा पानी मेरी चूत मे और बाहर निकला और मैंने उन्हे दबाया। फिर हम दोनो ऐसे ही पड़े रहे वो साईड से मेरे ऊपर सो गये उसके बाद भी हमने कई बार सेक्स किया है बाथरूम और टॉयलेट में क्योंकि हम बहुत गंदे बन गये है। दोस्तों ये थी मेरी कहानी ।।

धन्यवाद …

Comments are closed.

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


sexy story hundisexi stroyindian sex stories in hindi fontssexy story hinfinew hindi sexy storiesexy stiry in hindihindi sexy story onlinesexy new hindi storystory for sex hindisexy story un hindihindi saxy storesexy stoerihindhi saxy storyhindi sex kathahinde sexy kahanisex story in hindi downloadhindi sex story hindi languagesexy stoies hindisexcy story hindinanad ki chudaihindi sexy setoryhendi sexy khaniyasex kahani hindi msex story in hindi downloadsexy story in hindi languageread hindi sex kahanihindi new sexi storyvidhwa maa ko chodasexy story hundisex khaniya in hindi fonthindi sexy storieahindi new sexi storysex story of hindi languageread hindi sex storiesnew hindi sexi storysex hindi new kahanisex com hindiindian sex stories in hindi fontkamukta audio sexsexi khaniya hindi mehinde sxe storisexi storeysex story of hindi languagemonika ki chudaisexy stry in hindisexstori hindidukandar se chudaihindi font sex storieshindi sex astorisex new story in hindifree hindi sex story in hindinew hindi sex storywww hindi sex kahanihindi sex story sexhindi sexy story hindi sexy storywww sex story hindihini sexy storybhai ko chodna sikhayahinde sexy sotryhindi sexy storueshindisex storsexy hindy storiessex khani audiosex ki hindi kahanisexcy story hindihindi sex story downloadhindi sexi stroysexstorys in hindihindi sexy sortychodvani majahindi sax storiysex khani audiohindi sex kathamosi ko chodasex ki hindi kahanihidi sexi storyhindi sexy soryhindi sex kahani hindistory for sex hindiall sex story hindihindhi sexy kahanihindi sex story audio comsex store hendesex hindi sitoryhendi sax storebehan ne doodh pilayahindi font sex storieshendi sexy storygandi kahania in hindiarti ki chudairead hindi sexsex story hindi indianhinde sex estore